Thursday, December 31, 2009

आप सब को नए साल की शुभकामनाये !!!









दोस्तों

आप सब को नए साल की शुभकामनाये !!!
नया साल, आपकी ज़िन्दगी में ; बहुत सी खुशियाँ लेकर आये , मेरी दिल से यही दुआ है आप सभी के लिए .. और हाँ मेरे desk से कुछ छोटी छोटी बाते जो शायद आपके जीवन में कुछ काम आये .....


१. अपने आप में तथा अपने ईश्वर में विश्वास रखे !

२. आगाध आस्था , सम्पूर्ण विश्वास और अटूट प्रेम के साथ जीत की भावना भी आपके भीतर जागृत होवे..

३. आपको अपने आप से ही compete करना है और आपको जीत अपने आप पर ही [ अपनी कमियाँ etc . ] पर हासिल करनी होंगी ..

४. इस धरा के बेहतरीन मंत्र सिर्फ तीन है : दोस्ती , प्रेम, आदर !!!

५. खुश रहे , चुटकुले सुनाये , खूब हँसे ...इस planet को आपकी ख़ुशी की आवश्यकता है ..

६. और अंत में अपना १०० % देवे ...हमेशा .. चाहे वो देश हो , company हो , समाज हो , या घर हो ....अपना output आप हमेशा सर्वश्रेष्ट देने की कोशिश करे..

आपको फिर से नव वर्ष की ढेर सारी बधाई !!

आपका

विजय

+91 9849746500


1. My blog on shri shirdi saibaba : http://shrisaibabaofshirdi.blogspot.com/

2. My blog of photography : http://photographyofvijay.blogspot.com/

3. My blog of art : http://artofvijay.blogspot.com/

4. My blog on spirituality : http://spiritualityofsoul.blogspot.com/

5. My blog of comic characters : http://comicsofindia.blogspot.com/

6. My blog of my hindi poems : http://poemsofvijay.blogspot.com/


Thursday, December 24, 2009

मेरा नया ब्लॉग : अध्यात्म, जीवन, दर्शन, चिंतन,धर्म और प्रेम पर

दोस्तों ,

नमस्कार, मैंने अध्यात्म,धर्म, जीवन, दर्शन, और चिंतन पर एक ब्लॉग बनाया है ,जो की मेरे अपने अनुभवों का निचोड़ है ,जो कुछ भी मैंने इस छोटी सी उम्र में देखा, जाना, सीखा, पढ़ा, समझा और प्राप्त किया , वही सब कुछ मैंने अपने लेखो के द्वारा इस ब्लॉग में आप सब से बांटना चाहता हूँ , ब्लॉग का नाम है अंतर्यात्रा.... मेरी आप सबसे विनंती है की ,समय निकल कर इस ब्लॉग पर मेरे लेखो को पदियेंगा . बहुत बहुत धन्यवाद. ईश्वर आप सबको सुख , संतोष, ख़ुशी और प्रेम दे . ब्लॉग का लिंक है : http://spiritualityofsoul.blogspot.com/

Monday, December 14, 2009

मेरा फोटोग्राफी ब्लॉग




मेरा फोटोग्राफी ब्लॉग

आदरणीय दोस्तों , मैंने अपना फोटोग्राफी ब्लॉग को update किया है ...आप से निवदन है की अगर समय हो तो जरुर मेरे द्वारा लिए गए photographs को देखे और अपनी अमूल्य राय देवे. .. ब्लॉग का लिंक है : http://photographyofvijay.blogspot.com/
धन्यवाद.
आपका
विजय

Sunday, December 6, 2009

आबार एशो [ আবার এশো ] [ फिर आना ]



आबार एशो [ আবার এশো ] [ फिर आना ]

सुबह का सूरज आज जब मुझे जगाने आया
तो मैंने देखा वो उदास था
मैंने पुछा तो बुझा बुझा सा वो कहने लगा ..
मुझसे मेरी रौशनी छीन ले गयी है ;
कोई तुम्हारी चाहने वाली ,
जिसके सदके मेरी किरणे
तुम पर नज़र करती थी !!!

रात को चाँद एक उदास बदली में जाकर छुप गया ;
तो मैंने तड़प कर उससे कहा ,
यार तेरी चांदनी तो दे दे मुझे ...
चाँद ने अपने आंसुओ को पोछते हुए कहा
मुझसे मेरी चांदनी छीन ले गयी है
कोई तुम्हारी चाहने वाली ,
जिसके सदके मेरी चांदनी
तुम पर छिटका करती थी ;

रातरानी के फूल चुपचाप सर झुकाए खड़े थे
मैंने उनसे कहा ,दोस्तों
मुझे तुम्हारी खुशबू चाहिए ,
उन्होंने गहरी सांस लेते हुए कहा
हमसे हमारी खुशबू छीन ले गयी है
कोई तुम्हारी चाहने वाली ,
जिसके सदके हमारी खुशबू
तुम पर बिखरा करती थी ;

घर भर में तुम्हे ढूंढता फिरता हूँ
कही तुम्हारा साया है ,
कही तुम्हारी मुस्कराहट
कहीं तुम्हारी हंसी है
कही तुम्हारी उदासी
और कहीं तुम्हारे खामोश आंसू

तुम क्या चली गयी
मेरी रूह मुझसे अलग हो गयी

यहाँ अब सिर्फ तुम्हारी यादे है
जिनके सहारे मेरी साँसे चल रही है ....

आ जाओ प्रिये
बस एक बार फिर आ जाओ
आबार एशो प्रिये
आबार एशो !!!!!

Saturday, December 5, 2009

मटमैला पानी – PART -I


दोस्तों ; ये कविता मैं दुनिया के सारे शराबियों को नज़र करता हूँ ..!!! " मटमैला पानी " शराब के जाम के लिए "कोड वर्ड" है . .. [वैसे शराब पीना बुरी बात है जी ]

मैं अपने सारे ब्लॉगर दोस्तों से ये अपील ,गुजारिश, निवेदन करूँगा की वो भी इस कविता में डुबकी लगाये और एक एक अंतरा जरुर लिखे ...कमेन्ट में....!!! मैं ये सारे अंतरे जोड़कर करीब एक महीने के बाद इस कविता का PART-II पेश करूँगा , जिसमे आप सभी के अंतरे शामिल करूँगा . मेरी ये गुजारिश मेरे गुरु श्री नीरज जी , मुफ्लिश जी , मनु जी , सुशील जी तथा अन्य सारे दोस्तों से है ..... , आईये , इस महफ़िल में अपने नाम का एक जाम जोडीये जरुर....अंतरे के रूप में .... ये एक नयी कोशिश है, मुझे लगता है की हम सब मिल कर एक नयी कविता के फॉर्म का जन्म देंगे ..

मटमैला पानी

सुन लो मेरी ये बात दिल लगा कर जानी
यारो में यार होता है मटमैला पानी !

नहीं किसी से भी इसकी दुश्मनी यारो
बस दोस्ती जन्मभर निभाए ये मटमैला पानी !!
सुन लो मेरी ये बात………….

कभी अपनों ने दिल दुखाया
कभी परायो ने दिल दुखाया
किस किस की बात करे ,सबने दिल दुखाया
पर जिसने हमेशा राहत दी , वो है मटमैला पानी
सुन लो मेरी ये बात……………

दुनिया के लाख झमेले है
इस को निपटाए या उसको निपटाए
दिन रात इसी में बीत जाते है
पर जिसने सारे झमेले निपटाए , वो है मटमैला पानी
सुन लो मेरी ये बात…………..

कौन हिन्दू, कौन मुस्लिम ,
कौन सिख और कौन है इसाई
पीकर जिसे बन जाते है सब हिन्दुस्तानी
वो है सबका प्यारा मटमैला पानी
सुन लो मेरी ये बात………………..

इश्क ने सताया , घर ने सताया
दुनिया ने सताया , दोस्त ने सताया ,
दुश्मन ने भी सताया ...जिसको जानी
वो बस भूल जाये सबकुछ पीकर मटमैला पानी
सुन लो मेरी ये बात……………..