Friday, November 14, 2008

प्यार

सुना है कि मुझे कुछ हो गया था...
बहुत दर्द होता था मुझे,
सोचता था, कोई खुदा ;
तुम्हारे नाम का फाहा ही रख दे मेरे दर्द पर…

कोई दवा काम ना देती थी…
कोई दुआ काम ना आती थी…

और फिर मैं मर गया ।
जब मेरी कब्र बन रही थी,
तो
मैंने पूछा कि मुझे हुआ क्या था।
लोगो ने कहा;
" प्यार "

2 comments:

  1. और फिर मैं मर गया ।
    जब मेरी कब्र बन रही थी,
    तो
    मैंने पूछा कि मुझे हुआ क्या था।
    लोगो ने कहा;
    " प्यार "
    " oh what to say, but truth of love is this only, very well expressed, very well.."

    Regards

    ReplyDelete
  2. waah waah---------pyar ki isse behtar paribhasha kya hogi

    ReplyDelete