Monday, December 29, 2008

मेरे blogger दोस्तों , ये आपकी दोस्ती के लिए ..


दोस्तों , मुझे सिर्फ़ दो महीने हुए है इस blogging की दुनिया में आए हुए .. और आप लोगो ने इतना प्यार दिया है की बस पूछो मत .... आपके comments मुझे निरंतर ,और बेहतर लिखने की प्रेरणा देतें है ... 2008 में मैंने करीब 50 poems लिखी ; जिसमें से करीब 45 poems मैंने सिर्फ़ November और December में ही लिखी , और ये सम्भव हो सका है , सिर्फ़ आपके प्यार भरे comments के कारण . मैं अपने 10-12 घंटे के busy job में से कुछ समय निकल कर ये नज्में लिख लेता हूँ ... मैं ये सोचता हूँ की आप bloggers भी अब मेरा एक नया परिवार बन गया है .... मैं ,आप सब को तहे दिल से धन्यवाद् देता हूँ ,और आपसे प्रार्थना करता हूँ की ,आप यूँ ही मेरी poems को पढ़कर ,मेरी हौसला अफजाई करते रहे ... मैंने ये दोस्ती की poem कल लिखी ,सिर्फ़ आप blogger दोस्तों के लिए ... पढिंयेंगा; और हमेशा की तरह मुझे अपना स्नेह दीजियेगा ....

दोस्तों ,मुझे कभी भी भूल न जाना;
अपना स्नेह प्यार यूँ ही देते जाना .

दोस्ती , दिल के अंधेरो को दूर करे ,वो रोशनी है ..
और जीने की कड़वाहट मिटायें ,वो चासनी है .

दोस्ती ,ज़िन्दगी की ख्वाहिशों से भरा खजाना है .
दोस्ती , शानदार खवाबो से खूबसूरत नजराना है ..

दोस्ती से बेहतर कोई शराब नही यारो ....
दोस्ती से बढकर हसीं ख्वाब नही यारो ;

दोस्ती से बढकर कोई रिश्ता नही ...
दोस्ती से बढकर कोई जज्बा नही

दोस्ती , वफ़ा की बेहतरीन मिसाल है ,
दोस्ती , ज़िन्दगी का ताज़ा ख़याल है ..

अगर वक्त मिले तो दोस्त बनाओ यारो..
इस से बेहतर कोई और काम नही यारो.....


आपका दोस्त
विजय

17 comments:

  1. दोस्ती , दिल के अंधेरो को दूर करे ,वो रोशनी है ..
    और जीने की कड़वाहट मिटायें ,वो चासनी है .

    bahut sundar baat kahi,aur 50 kavita ki bahut badhai.

    ReplyDelete
  2. विजय जी, काहे की प्रार्थना, सर हुक्म करो हुक्म।
    दोस्ती , दिल के अंधेरो को दूर करे ,वो रोशनी है ..
    और जीने की कड़वाहट मिटायें ,वो चासनी है .
    दोस्ती से बेहतर कोई शराब नही यारो ....
    दोस्ती से बढकर हसीं ख्वाब नही यारो ;
    बहुत खूब। हमने तो इन्हीं दोस्तों की खट्टी मिट्ठी यादें साझा की हैं आज। जरा हमारी तलाश पर जाकर तो देखिए।

    ReplyDelete
  3. अब बचा क्या मेरे आपके बीच की दोस्ती बड़ी अच्छी होगी क्योंकि मैं अठासी का उमंगों से भरा जवान हूं और मैं समझता हूं हमारे और आपके बीच उम्र का फासला तो आप ही बता सकते हैं .

    http://sukhdeosahitya.blogspot.com/

    ReplyDelete
  4. दिल की गहराई से लिखी पंक्तियाँ हैं।

    ReplyDelete
  5. नववर्ष की मंगलकामनाओं के साथ!

    ReplyDelete
  6. आप हैं ही इतने प्यार इंसान की किसी को भी आप से दोस्ती कर फक्र हो सकता है...बहुत अच्छा और सच्चा लिखते हैं आप.
    नीरज

    ReplyDelete
  7. एक एक शब्द में भावों की गहराई है,
    बहुत खूब लिखा आपने,
    आपको बधाई

    ReplyDelete
  8. दोस्ती , वफ़ा की बेहतरीन मिसाल है ,
    दोस्ती , ज़िन्दगी का ताज़ा ख़याल है ..
    Blog parivar sabhi sneh ki dor se hi jude hue hain. swagat.

    ReplyDelete
  9. दोस्ती ,ज़िन्दगी की ख्वाहिशों से भरा खजाना है .
    दोस्ती , शानदार खवाबो से खूबसूरत नजराना है ..
    कौन यहाँ कुछ ले कर आया किसको कुछ ले जाना है
    दोस्तों के ख्वाब और ख्वाहिशें ज़िंदगी का अफसाना है

    ReplyDelete
  10. आपको भी ये स्नेह आगे भी मिलता रहेगा!

    ReplyDelete
  11. विजय जी बहोत ही बढ़िया कविता लिखा है आपने दोस्ती पे कुछ जगह तो एसा है जहाँ से एक सुंदर सी ग़ज़ल लिखी जा सकती है ...... बहोत बढ़िया लिखा है आपने .... हमारा आपसी प्यार और स्नेह परस्पर बना रहे यही उमीद करता हूँ ..... नव वर्ष की मंगल कमानावों के साथ...


    अर्श

    ReplyDelete
  12. नया वर्ष मंगलमय हो !

    ReplyDelete
  13. ये प्यार ये दोस्ती हमेशा बरकरार रहे.......
    ये परिवार हमेशा ऐसे ही खिलता महकता रहे......
    दोस्ती के ऊपर बहुत ही अच्छा लिखा है आपने....

    ReplyDelete
  14. gazal ki zarurat mehfil mein hoti he
    pyaar ki zarurat dil mein hoti he
    bina dost ke adhuri hai zindagi
    kyoki dost ki zarurat har pal hoti hai

    ReplyDelete
  15. zindagi jeene mein aham bhumika nibhati hai dosti.bina doston ke niras hai zindagi aur usi dosti ko aapne bade sahaj dhang se bayan kar diya........bahut khoob

    ReplyDelete
  16. ji bahut khub kaha hai aapne dosti per aur waqai ye nazm dosti ke naam ek shradhanjali arpit kiya hai aapne!

    kisi ne bada accha kaha hai angrezi mein:
    "success keeps you glowing
    but only friends keep you going"

    to bas yehi dua karte hein ke salamat rahe aapki dosti aapke sabhi doston ke sang (ameen)
    daad kabool farmayein hamari janib se
    fiza

    ReplyDelete
  17. आपके भावपूर्ण उद्गार अच्छे लगे . नए साल की शुभकामनाएं !

    प्रियंकर
    http://anahadnaad.wordpress.com

    ReplyDelete